Monday, December 17, 2018
मुख्य समाचार मनोरंजन राष्ट्रीय राजनीति लाइफ स्टाइल स्वास्थ

जानें, दुनिया की सबसे इलीट भारतीय फोर्स ‘MARCOS’के बनने की पूरी कहानी!

हर बुरी परिस्थिति में भारत की सुरक्षा में लगे मरीन कमांडो को दुनिया की सबसे इलीट फोर्स में से एक माना जाता है. मरीन कमांडो को MARCOS नाम से भी जाना जाता है. जब भी दुनिया की सबसे बेहतरीन और इलीट फोर्स की बात होती है तो इसमें भारतीय MARCOS का नाम आना लाज़िमी है. लेकिन MARCOS कमांडो बनना कोई आसान काम नहीं है. इसके लिए हजारों सैनिक में से किसी एक को चुना जाता है, जिसे दुनिया की सबसे ख़तरनाक मानी जानी वाली ट्रेनिंग से होकर गुजरना होता है. तो आगे जानें इसी ट्रेनिंग के कुछ ख़ास लेकिन ख़तरनाक नमूने-

1. MARCOS बनने की इच्छा रखने वाले सैनिकों को HOHO/HALO जंप यानी 11 और 8 km की ऊँचाई से कूदना पड़ता है. कई बार उन्हें -40 डिग्री के तापमान से भी छलांग लगानी पड़ती है.

2. MARCOS को अपने प्रतिदिन के व्यायाम की शुरुआत 20 किलोमीटर की दौड़ के साथ करनी पड़ती है.

3. MARCOS ट्रेनिंग के दौरान कमांडो को नाईट ट्रैक में अपनी 20 किलोमीटर की दौड़ के दौरान 60 किलो वज़न लेकर भागना पड़ता है.

4. MARCOS अपनी हर तरह की ट्रेनिंग में असली और जिन्दा हथियारों का इस्तेमाल करते हैं, इसका मतलब यह है कि जरा सी भी चूक और एक बड़ी दुर्घटना.

5. अपनी ट्रेनिंग के दौरान MARCOS कमांडो को हफ्ते में एक बार 60 किलो वज़न के साथ 120 किलोमीटर की लंबी दौड़ लगानी पड़ती है.

6. अपनी ट्रेनिंग के दौरान इन कमांडो को एक हफ्ते तक प्रतिदिन लगातार 20 घंटे तक शारीरिक कसरत करनी पड़ती है.

7. उस एक हफ्ते की स्पेशल ट्रेनिंग के दौरान इन कमांडो को 4 घंटे से भी कम समय सोने के लिए मिलता है.

8. अपनी इस ट्रेनिंग के दौरान कमांडो को 25 किलो के वज़न के साथ गहरे और गाढ़े कीचड़ में रेस लगानी पड़ती है.

9. MARCOS कमांडो को अपने साथ कमांडो के पीछे खड़े दुश्मन पर निशाना लगाना होता है और जिसमें निशाना चूकने का मतलब साथी कमांडो की मौत है.

The post जानें, दुनिया की सबसे इलीट भारतीय फोर्स ‘MARCOS’ के बनने की पूरी कहानी! appeared first on SocialPost.