Sunday, June 24, 2018

क्या आप वीकेंड पर ज़्यादा सोते है? अगर सोते हैं तो आप अच्छा ही करते हैं

यह आपके शरीर के लिए है अच्छा:

हमारे शरीर के लिए नींद का पूरा होना कितना ज़रूरी है यह हम सभी जानते है। अक्सर आपने लोगों को सलाह देते हुए सुना होगा कि फिट रहने के लिए अपनी नींद ज़रूर पूरी करें। जिस दिन भी हम ठीक से सोए नहीं होते हैं, हमारी अधूरी नींद का असर ना सिर्फ शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी हम पर पड़ता है। हमारे काम पर इसका असर पड़ता है और हम चिड़चिड़ाते रहते हैं।

इसके बावजूद अकसर हम में से कई लोग नींद पूरी नहीं कर पाते हैं। जिसकी वजह कभी काम का बोझ तो कभी अन्य सोशल कमिटमेंट्स होते हैं। एक रिसर्च में यह बात सामने आया था कि अगर हम एक बार अपनी नींद खो दें, तो बाद में सो कर हम उसकी भरपाई नहीं कर सकते हैं। स्लीप साइंटिस्ट मैथ्यू वॉकर के अनुसार एक बार जो नींद हमने खो दी उसको हम बाद में पूरा नहीं कर सकते हैं।

हालांकि, अब एक नई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि अपनी टूटी हुई नींद को हम कभी भी दिन भर में सोकर पूरा कर सकते हैं। स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी ने 43 हजार लोगों पर यह रिसर्च की है। रिसर्च में यह सामने आया की जो लोग रात को 5 घंटे से कम या फिर 8 घंटे से ज्यादा सोते हैं उनमें ज्यादा मृत्यु दर पाई गई। दरअसल, शरीर पर इस बात से असर पड़ता है कि आपने एवरेज नींद कितनी ली है।

इस रिसर्च के प्रमुख रेसेअर्चेर्स के अनुसार वीकेंड पर ज़्यादा सोकर हम हफ्ते भर की छूटी हुई नींद को पूरा कर सकते हैं। हां, इसकी एक सीमा जरूर है लेकिन वीकेंड पर अपने सोने के समय को थोड़ा बढ़ाना बेहतर ज़रूर है। वर्किंग डे में जब भी हम अपने बॉडी क्लॉक में परिवर्तन करते हैं, हम ज़्यादा थका हुआ महसूस करते हैं। दरअसल हमारे शरीर को हमारा रूटीन पता होता है और हमारे काम के अनुसार हॉरमोन्स रिलीज होते हैं। जब हमारा सोने का समय होता है तो हमें खुद ही थकान महसूस होने लगती हैं।

The post क्या आप वीकेंड पर ज़्यादा सोते है? अगर सोते हैं तो आप अच्छा ही करते हैं appeared first on SocialPost.